Posted by on October 17, 2020 6:39 am
Tags:
Categories: Insurance

मंदिर मामले में संजय राउत ने राजयपाल के खिलाफ कह दी यह बड़ी बात

मंदिर मामले में संजय राउत ने राजयपाल के खिलाफ कह दी यह बड़ी बात

मंदिर मामले में संजय राउत ने राजयपाल के खिलाफ कह दी यह बड़ी बात

कोरोना की वजह से बंद किये गए सभी धर्म स्थलों को फिर से खोलने को लेकर महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) एक बार फिर आमने-सामने हैं. दोनों तरफ से बातो का यु’द्ध चल रहा है. इन सबके बीच शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने इशारों-इशारों में राज्यपाल पर एक बार फिर नि’शाना साधा है. केवल महाराष्ट्र ही नहीं बल्कि संजय राउत ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल की कार्यप्रणाली पर भी सवाल खड़ा किया है।

न्यूज मीडिया से बात करते हुए राउत ने कहा कि देश में इस वक्त दो ही प्रदेशों में राज्यपाल हैं महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल, बाकी राज्यों में राज्यपाल हैं या नहीं मुझे नहीं पता. उन्होंने आगे कहा कि राज्यपाल भारत सरकार और राष्ट्रपति के पॉलिटिकल एजेंट होते हैं. ऐसा इसलिए ही वे राजनीतिक काम करते हैं.

भाजपा पर निशाना

संजय राउत ने महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल के राज्यपालों पर तंज कसते हुए कहा, ‘ऐसा लगता है कि आजकल पूरे देश में सिर्फ दो ही प्रदेशों में राज्यपाल हैं, बाकी अन्य राज्यों में कहीं राज्यपाल हैं या नहीं, मैं नहीं जानता. क्योंकि यहां बीजेपी की सरकारें नहीं हैं.’ राउत ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि हमने कभी राज्यपाल को वापस बुलाने का नहीं कहा, लेकिन यदि केंद्र में कांग्रेस की सरकार होती और उनके राज्यपाल इस तरह का व्यवहार करते तो भाजपा जरूर कहती कि राज्यपाल को वापस बुलाने के लिए कहती।

मीडिया पर रहे खामोश

जब संजय राउत से मीडिया ने बॉलीवुड के बारे में सवाल किया, तो वे जवाब देने से बचते नजर आये. गौरतलब है कि मंदिर खोलने को लेकर राज्यपाल और महराष्ट्र सरकार में विवाद चल रहा है. राज्यपाल चाहते हैं कि राज्य में मंदिर खोलने की इजाजत दी जाए, लेकिन शिवसेना इसके लिए अभी तैयार नहीं है. मुख्यमंत्री ठाकरे की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि सरकार धीरे-धीरे अनलॉक की तरफ आगे बढ़ रही है।

राज्यपाल ने लिखी थी चिट्ठी

आपको बता दें कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने महारष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को चिट्ठी लिखकर मंदिर खोलने की मांग की थी. उन्होंने कहा था, ‘1 जून से आपने मिशन फिर से शुरू करने की बात कही थी, लेकिन चार महीने बाद भी पूजा स्थल नहीं खोले गए है.’ उन्होंने आगे कहा था, ‘यह अजीब विडंबना है कि सरकार ने बार और रेस्तरां खोल दिए हैं, लेकिन देवी और देवताओं के स्थल को अभी तक नहीं खोला गया है. आप खुद हिंदुत्व के मजबूत पक्षधर रहे हैं. आपने भगवान राम के लिए सार्वजनिक रूप से अपनी भक्ति व्यक्त की. क्या आपने अचानक खुद को धर्मनिरपेक्ष बना लिया है?

देखे वीडियो : बॉलीवुड की वो 10 हेरोइन जो सलमान खान के सो चुकी है।

Published at Fri, 16 Oct 2020 10:07:18 +0000

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.